All English Articles

All Sanskrit Articles

S. No.
Manuscript Title
Page No.
Download PDF
Language
1
राम काव्य की प्रासंगिकताः एंव स्त्री सशक्तिकरण
डाॅ शंकर ए.राठोड (Volume - 1)
46-48
Hindi
2
चाणक्य नीति
Dr. Saroj Gupta (Volume - 1)
53-54
Hindi
3
दलित आत्मकथाओं में चित्रित दलित जीवन
डॉ शंकर ए.राठोड (Volume - 2)
16-18
Hindi
4
इक्कीसवीं सदी के हिंदी साहित्य में ‘जिंदगी के यथार्थ का बोध’
Dr. T. Lathamangesh (Volume - 2)
28-30
Hindi
5
मातृभूमिः स्त्री की अनुपस्थिति में विकृत सामाजिक संरचना
डॉ. हनुमत लाल मीना (Volume - 3)
46-49
Hindi
6
मानस का राम
Dr. T. Lathamangesh (Volume - 3)
53-55
Hindi
7
कबीर की सामाजिक चेतना
Dr.T.Lathamangesh (Volume - 4)
30-31
Hindi
8
स्त्री के नृषंस उत्पीड़न का दस्तावेज़ः‘ किस्सा हवेली ’
विजय कुमार (Volume - 5)
12-13
Hindi
9
प्रेमचंद की कथा- भाषा और कफन
डॉ.विवेकानंद उपाध्याय (Volume - 5)
16-18
Hindi
10
रमेश बख्शी के नाटक “पिनकुशन” में व्यक्त व्यवस्था का आतंक बनाम जनक्रांति
बन्दना ठाकुर (Volume - 5)
27-28
Hindi
11
नामवर सिंह-दूसरी परम्परा के अन्वेषक
टीकमचन्द मीना (Volume - 5)
29-31
Hindi
12
शमशेर की काव्यानुभूति की बुनावट, विचारधारा और काव्य सम्वेदना
विवेकानंद उपाध्याय (Volume - 5)
32-34
Hindi
13
महिला नाट्य लेखन में देह विमर्श: सीमाएं एवं सम्भावनाएं
डॉ. जगमोहन शर्मा (Volume - 5)
35-38
Hindi
14
1970 दे बाद दी डोगरी कविता च नारी दे बक्ख-बक्ख रूप
Pooja Sharma (Volume - 5)
75-76
Hindi
15
ՙमहाराणा का महत्त्व՚ के उपजीव्य स्रोत
Dr. Arvinder Kaur (Volume - 6)
15-18
Hindi
16
अरविंद तिवारी के व्यंग्य निबंधों में वर्णित भ्रष्टाचार
Dr.T.Lathamangesh (Volume - 6)
49-50
Hindi
17
भारतीय ग्रामीण यथार्थ और “ बबूल ”
ज्योति रानी (Volume - 8)
26-27
Hindi
18
“गोदान ” शीर्षक की सार्थकता
परषोतम कुमार (Volume - 8)
28-29
Hindi
19
विस्थापित हमेशा विस्थापित ही रहता है
मुश्ताक अहमद (Volume - 8)
37-38
Hindi
20
भूमण्डलीकरण के दौर में हिन्दी भाषा
बन्दना ठाकुर (Volume - 9)
09-11
Hindi
21
भूमंडलीकरण एवं आदिवासी उत्पीड़न: ग्लोबल गाँव के देवता
विजय कुमार (Volume - 9)
12-13
Hindi
22
आदिवासी विमर्श
डॉ. अंजू बाला (Volume - 9)
16-18
Hindi
23
साहित्य और समाज का अन्तः सम्बन्ध
डॉ. अन्तिमा (Volume - 9)
29-30
Hindi
24
‘सलाम आखिरी’ उपन्यास में वेश्या-जीवन
रूचिका शर्मा (Volume - 9)
45-47
Hindi
25
सिनेमा और प्रेमचंद का कथा साहित्य
डॉ॰ नारायण (Volume - 10)
09-11
Hindi
26
दलित साहित्य का सौंदर्यशास्त्र
डॉ. अन्तिमा (Volume - 10)
15-17
Hindi
27
जैन धर्म की भारतीय संस्कृति को देन
डॉ. रूचिका शर्मा (Volume - 10)
39-40
Hindi
28
राजी सेठ के कहानी साहित्य में सामाजिक न्याय की तलाश करती नारी
डॉ. ष्मस अख्तर (Volume - 11)
28-29
Hindi
29
आदिवासी अस्मिता तथा सघंर्ष की गाथा:पावँ तले की दूब
रेणुका शर्मा (Volume - 11)
39-41
Hindi
30
मधुकांकरिया कृत उपन्यास ‘सूखते चिनार’ में आतंकवाद
डॉ. रूचिका शर्मा (Volume - 11)
42-43
Hindi
31
शिक्षण संस्थानो का यथार्थ: संदर्भ अपना मोर्चा
डॉ नीरज शर्मा (Volume - 12)
10-12
Hindi
32
सर्जक, सत्ता और जीवन संघर्ष: चुनिन्दा हिन्दी नाटक
डॉ विपुल कुमार (Volume - 12)
43-46
Hindi
33
इलेक्ट्रानिक एवं प्रिंट मीडिया में हिंदी की भूमिका
प्रा. संतोष तानाजी धोत्रे (Volume - 13)
10-11
Hindi
34
पारसी रंगमंच का योगदान
प्रो. डॉ. सदानंद भोसले , जयराम गाडेकर (Volume - 13)
12-15
Hindi
35
दलित उत्पीड़न के परिप्रेक्ष्य में ‘किस्सा हवेली’
विजय कुमार (Volume - 13)
30-31
Hindi
36
पारिवारिक और सामाजिक जीवन पर साम्प्रदायिकता का प्रभाव और हिंदी कहानी
मुल्ला आदम अली (Volume - 14)
01-02
Hindi
37
हिन्दी साहित्य और सिनेमा
निशा वर्मा (Volume - 14)
58-59
Hindi
38
‘बहुजन’ उपन्यास में बदलता परिवेश
प्रा. राजेंद्र घोडे (Volume - 14)
63-64
Hindi
39
जनवादी कवि ‘अवतार सिंह संधू’ उर्फ ‘पाश’
सुनील कुमार (Volume - 14)
67-70
Hindi
40
आवाज़ का नीलाम एकांकी की प्रासंगिकता
ज्योति रानी (Volume - 14)
73-75
Hindi
41
हिन्दी कहानी: विभाजन की पीड़ा
निशा वर्मा (Volume - 15)
03-04
Hindi
42
“कबीर का सार्थक चिन्तन”
मुल्ला आदम अली (Volume - 15)
08-09
Hindi
43
‘वो जो खो गया’ में व्यक्त पारिवारिक विघटन
कोशिका शर्मा (Volume - 15)
13-15
Hindi
44
‘सत्ती मैया का चौरा’ और सांप्रदायिकता
प्रा.जयराम गाडेकर (Volume - 16)
27-28
Hindi
45
वैदिक कालीन संगीत में दुन्दुभि,तथा भूमिदुन्दुभि वाद्य का महत्व
Hema Dani (Volume - 17)
33-35
Hindi
46
रचनावाद में मूल्यांकन
नविता (Volume - 17)
43-44
Hindi
47
दार्शनिक एवं मनोवैज्ञानिक परिप्रेक्ष्य में बुद्धि का स्वरूप
Dr.Chanchal Kumari (Volume - 18)
30-32
Hindi