Volume 3 (November - December, 2015)

Go Back

Next Volume

S. No.
Manuscript Title
Page No.
Download PDF
Language
01.

बालरामायण में प्रतिबिम्बित आचार्य
       राजशेखर के काव्यशात्रीय सिद्धांत

डॅा. ममता गुप्ता
01-04
Sanskrit
02.

Women empowerment through Self Help Groups- A case study of Bijaydandi  Development Block in Mandla District of MadhyaPradesh

            Dr. A K Gill
05-15
English
03.

संस्कृत व्याकरण की महत्ता उसकी उत्पत्ति बीज,
   एवं वर्तमान में उसका विकासात्मकस्वरूप

                     वेदानन्द
16-18
Sanskrit
 04.

वर्तमान समय में नैतिक मूल्यों की आवश्यकता

                  जोगिन्द्र सिंह


19-20
Sanskrit
05.

The Linguist Anundoram Borooah :
          An Estimation

      Dr. Sudeshna Bhattacharjya
21-24
English
 06.

आचार्य शङ्कर कृत ब्रह्मसूत्र-अध्यासभाष्य :
         एक मनोवैज्ञानिक विश्लेषण

               डॉ० किपल गौत्तम
25-32
Sanskrit
 07

भारतीय दर्शन में शब्द का स्वरूप और
                 शक्ति ग्रह

                डॅा. सरोज गुप्ता
33-35
Sanskrit
 08

   

     उच्च शिक्षा में संस्कृत भाषा का महत्त्व

                  डॅा. सरोज गुप्ता
36-38
Sanskrit
 09

     उपमा का स्वरूप एवं ऋग्वेद में वर्णित    उपमानभूत प्रमुख पशुओं का वैशिष्ट्य़

     दुर्गा उपाध्याय ,पो. पुष्पा अवस्थी
39-42
Sanskrit
 10

    मातृभूमिः स्त्री की अनुपस्थिति में विकृत      सामाजिक संरचना

डॉ. हनुमत लाल मीना
46-49
Hindi
 11

अथर्ववेदीय समाज में निरूपित आचार
दर्शन की समीक्षा

                    हुमरा सुल्ताना       
50-52
Sanskrit
12

मानस का राम
Dr.T.Lathamangesh       

53-55
Hindi