Volume 5 (March - April, 2016)

Go Back

Next Volume

S. No.
Manuscript Title
Page No.
Download PDF
Language
01.

न्यायदर्शनम् - एकावलोकनम्

Dr. Saroj Gupta

01-03
Sanskrit
02.

विशिष्टाद्वैतवेदान्ते प्रमाणविचारः

ममता
04-07
Sanskrit
03.

LINGUISTICS IN INDIA
AND THE INFLUENCE OF SANSKRIT

Dr. T.D Beena
08-11
English
04.

स्त्री के नृषंस उत्पीड़न का दस्तावेज़ः‘ किस्सा हवेली ’

विजय कुमार
12-13
Hindi
05.

' शब्द भी हत्या करते हैं ’ उपन्यास में चित्रित मानवीय संवेदना

निशा वर्मा
14-15
Hindi
06.

प्रेमचंद की कथा- भाषा और कफन

डॉ.विवेकानंद उपाध्याय
16-18
Hindi
07.

संस्कृत - ज्ञान का स्त्रोत

डॉ. सरोज गुप्ता
19-21
Sanskrit
08.

स्त्री शक्ति रूप में
( देवी भागवत पुराण के संदर्भ में )

डॉ. सरोज गुप्ता
22-23
Sanskrit
09.

विशिष्टाद्वैतमते जीवात्मस्वरूपम्

ममता
24-26
Sanskrit
10.

रमेश बख्शी के नाटक “पिनकुशन” में व्यक्त व्यवस्था
का आतंक बनाम जनक्रांति

बन्दना ठाकुर
27-28
Hindi
11.

नामवर सिंह-दूसरी परम्परा के अन्वेषक

टीकमचन्द मीना
29-31
Hindi
12.

शमशेर की काव्यानुभूति की बुनावट, विचारधारा और काव्य सम्वेदना

विवेकानंद उपाध्याय
32-34
Hindi
13.

महिला नाट्य लेखन में देह विमर्श: सीमाएं एवं सम्भावनाएं

डॉ. जगमोहन शर्मा
35-38
Hindi
14.

CONSCIOUSNESS IN SHANKAR’S ADVAITA

Deonath Tripathi
39-42
English
15.

योगदर्शन में ज्ञानमीमांसा

देवनाथ त्रिपाठी
43-46
Sanskrit
16.

अम्बेडकर एवं सामाजिक न्याय

प्रो. अर्चना दुबे
47-48
Sanskrit
17.

वेद में भारतीय संस्कृति के तत्त्व

डॉ. हेमवती नन्दन पनेरू
49-51
Sanskrit
18.

कृषि का वैदिक विज्ञान

डॉ. सुधा गुप्ता
52-57
Sanskrit
19.

विद्धशालभंजिका का नायिका का शास्त्रीय अध्ययन

रचना तिवारी
58-60
Sanskrit
20.

राजशेखर की कृतियों में प्रितिबिम्बत लोक संस्कृति
डॉ. ममता गुप्ता

61-63
Sanskrit
21.

राजशेखर के रूपकों में सामाजिक संदर्भ

रचना तिवारी
64-65
Sanskrit
22.

वेदों में मणिधारण और उसके लाभ

देवेन्द्र कुमार पाण्डेय
66-69
Sanskrit
23.

काव्यमीमांसा में सौन्दर्यशास्त्रीय सन्दर्भ

डॉ. ममता गुप्ता
70-74
Sanskrit
24.

1970 दे बाद दी डोगरी कविता च नारी दे बक्ख-बक्ख रूप

Pooja Sharma
75-76
Hindi/Dogri